Saturday, 2 July 2016

Sajna Bagair Ratan Song, Lyrics- Pawan Pandit

3 Tilange Songs Online

Gau Rakshak Puraskar (Cow Protector Awards)


First time honor to cow protectors in India by "Gau Rakshak Samman Puraskar". it's very big event and closely connected to Hinduism .
यह सम्मान पत्र किसी स्टेज से नहीं दिया जा रहा है बल्कि यह अवार्डी के घर जाकर दिया जाता है जिसको पुरस्कार समिति ने चयनित किया है। हमारा उदेश्य जयादा से जयादा लोगों को इस बात का अहसास करवाना है कि उनके दवारा किये गए गौ सेवा के कार्य को कभी भी अनदेखा नहीं किया जायेगा।

Certficate Distribution









Like Gau Raksha Andolan on FB



I Am Hindu Hindi Movie Release on Dussehra 2017


यह फिल्म उन सभी पहलुओ को रेखांकित करती है जो आज तक केवल और केवल बहस का मुद्दा हैं। यह उन सभी मान्यताओ को पुन :विचार करने की तर्क देगी की कौन समुदाय, कौन भाषा ,कौन परम्परा ,कौन सी विचारधारा किसकी जननी है। यह उन सभी बिन्दुओ पर भी केन्द्रित हैं उन सभी घटनाओं को भी परिभाषित करने की कोशिश है जिससे लवजिहाद ,सांप्रदायिकता और धर्मनिरपेक्षता जैसे पहलू है। कई बार एक व्यक्ति सिर्फ अपने समुदाय और परम्पराओ को मुखर रूप से समर्थन करने मात्र से ही वह लोगों की नज़र में सांप्रदायिक ताकत बन जाता हैं और उसके अन्य दृष्टिकोड़ो मूल्यो को गौण समझ लिया जाता है जैसे कई प्रश्नो को उठाया गया है।


Like I Am Hindu On FB

The ‘3 Tilange’ is completely a worth watching film



Music and singing
Hindi film industry’s well-known singer Sadhana Sargam who has given her voice in song “Abhi sawaalon mein aaye tum “.The lyrics are written by Pawan Pandit and music is by Sajid Khan.This is consider as the clef of ripeness by film maker Pawan Pandit. The popular playback singer Pamela Jain has also given her voice in film ‘3 Tilange’.
Annotated Efforts
By watching the teaser of film ‘3 Tilange’, It seems like the film’s producer and director have worked hard and they know what the audience will like.To maintain the freshness of the story, the Producer-directors does not hesitated to keep a new cast and new faces are regular part of the film.
Gist:-
By watching the teaser of the film, it could be said that the film has value for money, humor and the film will be good for spending time with family.The story of film is very simple,yet very interesting, The 3 Tilange film is based on ‘Kachchhedhari Gang’ directly and effectively without any texture to represent the story should be seen as the beginning of the movie. Produced under the banner of Shashank Dandotiya Films the ‘3 Tilange’ film is scripted by Rakesh Dandotiya and Dharmendra Baghel and Producer-Director are Pawan Pandit, Shashank Dandotiya , and the music is given by Amjad Khan, Sajid Khan and Yug Bhusal and the Co-producers are Maninder Singh and Gajender Handa.

Teen Tilange Film Teaser Released

The Trailer of Pawan Pandit’s romantic comedy and thief thriller movie ‘3 Tilange’ is released . Pawan Pandit is the president of IFAA film association and the editor of Bollywood Dreams magazine. The ‘3 Tilange’ is completely a worth watching film. The story of this film is also sparse and unprecedented. The songs of film is sung by many shining singers like Sadhana Sargam, Raja Hasan, Pamela Jain, Mohammed Salamat, Amjad khan, Shabbir Khan etc.


I am Hindu Lyrics

Purvanchal Rajya Janandolan

किसी भी आंदोलन को बोझ समझकर नहीं उठाया जाता ।। न ही अपने व्यक्तिगत लाभ को देखकर ।। जन आंदोलन में जन भागीदारी होती है और जन भागीदारी में लाजमी है विचारों का भिन्न होना लेकिन एकाधिकार किसी का नहीं होता । ऐसे आंदोलन उन सब के हैं जो विधर्भ और पूर्वांचल जैसे पृथक राज्य को विकास और लोकहित के लिए जरूरी मानते हैं और उसका किसी भी रूप से समर्थन करते हैं ।। लेकिन मेरे कुछ मित्र ग्रुप ग्रुप खेल रहें हैं  ।। उनको ये ग़लत फहमी हो गयी है कि ये आंदोलन उन्ही तक है ।।। बहुत कोशिश पहले हुवी ।। वही आज भी हो रही हैं और हो सकता है हमारे आगे आने वालों को भी करनी पड़े लेकिन  इसमें किसी भी दौर के लोगों की कोशिश में कोई कमी रही होगी ये जरुरी तो नहीं ।।। निवेदन है आप सबका योगदान अति आवश्यक है । मितथ्या सोच को छोड़कर खुद को पूर्वांचल राज्य जनांदोलन के सयोंजक सदस्य के रूप में अपनी सक्रियता जारी रखें ।। आपको आपका सम्मान और राज्य दोनों मिलेंगे और अपने क्षेत्र के लिए फैसले लेने की ताकत भी मिलेगी । । पवन पंडित  ।।

पृथक पूर्वांचल राज्य की मांग वर्षो से होती आ रही है पर आज तक इसकी लड़ाई लड़ने वाला कोई नही मिला उसकी वजह ये थी की कही आंदोलन को आगे बढाने में पैसे की कमी कही संघठन नही होना और जहाँ संघठन है तो वहां पर नेतृत्व की कमी 



पूर्वांचल को गर्व है अपनी भाषा, अपनी संस्कृति, अपनी सभ्यता, अपने संस्कार व अपने महान धरोहर पर ।

पूर्वांचल- जहाँ विश्व की पुरातन नगरी "काशी" मे भोलेनाथ स्वयं विराजते है ।

पूर्वांचल- जहाँ भगवान राम का जन्म हुआ है अयोध्या, फैजाबाद ।

पूर्वांचल- जहाँ भगवान परशुराम का जन्म हुआ है जमैथा, जौनपुर ।

पूर्वांचल - जहाँ जगत जननी महामाया माता विन्ध्यवासिनी स्वयं बिराजती है, विन्ध्याचल, मिर्जापुर

पूर्वांचल - जहां बुद्ध ने समाधी ली कुशीनगर व उपदेश दिया सारनाथ, वाराणसी ।

पूर्वांचल- जहाँ सत्यवादी राजा हरिशचन्द्र जी का जन्म हुआ है और अपनी सत्यता की कठिन परीक्षा दी, वाराणसी ।।

पूर्वांचल- जहाँ महर्षि वाल्मीकि ,, महर्षि जमदाग्नि ,, महर्षि भारद्वाज ,, महर्षि परशुराम ,,महर्षि वशिष्ठ ,, महर्षि भृगु  ,, महर्षि वेदव्यास ,, योगी गोरखनाथ ,, देवरहा बाबा ,,मंडन मिश्र,, गोस्वामी तुलसीदास ,,संत रहीम,, संत कबीर ,, बाबा कीनाराम ,, संत करपात्री जी,, योगी श्यामाचरण लाहिड़ी का जन्म हुआ । 

पूर्वांचल- जहाँ संस्कृत के प्रकांड पण्डित राहुल सांकृत्यायन का जन्म हुआ, आजमगढ़ ।

पूर्वांचल- जहाँ के 20 साल के क्रांतिकारी मंगल पांडे और चित्तू पांडे ने अंग्रेजी राज की चूलें हिलाकर क्रांति का शंखनाद किया , बलिया । 
महान क्रांतिकारी राम प्रसाद बिस्मिल का जन्म हुआ । बरहज देवरिया ।

पूर्वांचल- जहाँ परम वीर चक्र विजेता अब्दुल हमीद , कैप्टन मनोज पांडे , यदुनाथ सिंह का जन्म हुआ ।

पूर्वांचल- जहाँ गंगा, यमुना और सरस्वती का संगम है व तीर्थराज प्रयाग कहलाता है जहां दुनियाँ का सबसे विशाल पर्व कुंभ का आयोजन होता है । 

पूर्वांचल- जहाँ भगवती शरण बर्मा , महादेवी वर्मा , मुंशी प्रेमचंद , पं मदन मोहन मालवीय , आचार्य राम चंद्र शुक्ल, भारतेन्दु हरिशचन्द्र, हरिवंशराय बच्चन जैसे महान लेखकों व  पथप्रदर्शकों का जन्म हुआ ।

पूर्वांचल- जहाँ मशहूर शायर फिराक गोरखपुरी और कैफे आजमी का जन्म हुआ ।

पूर्वांचल- जहाँ शहनाई के सरताज बिस्स्मिल्लाह खान का जन्म हुआ ।


एक पूर्वांचली के शब्द 

पूर्वांचल अगर आज विकसित राज्य होता तो पूरे भारत की दिशा और दशा हम पूर्वांचली ही तय करते । आपका साथ पूर्वांचल का विकास। जुड़े पूर्वांचल राज्य जनान्दोलन से ...जय हिन्द .... जय पूर्वांचल ।।

जैसा की आप सभी मित्र जानते है117 विधानसभा और23 लोकसभा वाले पूर्वांचल की धरती उत्तर प्रदेश के अन्य जिलो के अपेक्षा मिट्टि की समृद्धि गुणवत्ता और उच्च केचुआ घनत्व के कारण कृषि के लिए अति अनकूल है।यहां की 75%लोग कृषक या खेतिहर मजदूर है जिनकी प्रमुख जीविका कृषि ही है मित्रो एक उदाहरण जब हमारा जिला कुशीनगर और देवरिया एक हुआ करता था तो आपको जानकर आश्चर्य होगा की उसमे 13 चीनी की मिले हुआ करती थी जिनमे से अधिकतम बन्द पड़ी है ।पुरे क्षेत्र को उर्वरक सप्लाई का एक कारखाना जिसे फर्टिलाइजर गोरखपुर कहते है बन्द है उन कर्मचारियों का दर्द कोई पूछने वाला नही है कृषक आज अपनी चौथी फसल को देख कर सर पिट रहा है मजदूर बेकार है या दूसरे राज्य में पलायन कर चुके है स्थिति बाद से बद्तर होती जा रही है मित्रो आज भी कुछ परिवारो में शाम के भोजन में मात्र रोटी और कोई सब्जी बहुत कठिनाई से मिल पा रहा है। 
1991 में उत्तर प्रदेश सरकार ने पूर्वांचल विकाश निधि की ब्यवस्था किया जिसे सत्ता लोलुप जाती की राजनीति करनेवाले नौकर शाह गडरप कर गए जो पिछडो अनसूचित जाती अनसूचित जनजाति के जीवन स्तर को ऊपर उठाने के लिए किया गया था।
मेरे पूर्वांचल के भाइयो आप जरूर विचार करे आपका मन द्रवित हो जायेगा की गरीब और गरीब होता जा रहा है और आमिर और आमिर ये कहां का न्याय है।
आगे बढ़ो और हक से मांगो की पूर्वांचल राज्य हमारा है इसे हम ले के रहेंगे।

पूर्वांचल राज्य की माँग को ले कर प्रधानमंत्री के इलाहाबाद आगमन पर प्रशान्त पाण्डेय और राम प्रकाश तिवारी के नेतृत्व मे प्रदर्शन !!

Like Us On Facebook

Cow Protection Movement





What is Bhartiya Gau Raksha Dal?

The Bhartiya Gau Raksha Dal was incorporated in the India, March 2010, non-profit, tax-exempt organization. Sh Pawan Pandit and Sh. Naveen Sharma are its managing directors.

Bhartiya Gau Raksha Dal Mission Statement

Bhartiya Gau Raksha Dal's primary concern is to present alternatives to agricultural practices that support and depend upon the meat industry's slaughter of innocent animals, specifically the cow. To this end, Bhartiya Gau Raksha Dal presents the practices and philosophy of compassionate cow protection which includes training oxen (male cows or steers) to replace farm machinery and thereby show an alternative to their slaughter. The tenets of cow protection are universal and nonsectarian, available to all regardless of race, creed, or nationality.

Bhartiya Gau Raksha Dal Activities

Cow Protection Classes/Seminars

Classes/Seminars are given in living classroom settings involving hands-on instruction. Traditional classroom educational settings are also available. Please contact us if you wish to partake in such a seminar or wish to have one in your area.

Training Teamsters and Oxen

Teamsters and oxen are trained either individually or in group settings. At the Bhartiya Gau Raksha Dal  Farm there are trained ox teams available for the training of students.

Bhartiya Gau Raksha Dal Farm

Bhartiya Gau Raksha Dal's headquarter is in New Delhi, INDIA, provides a setting for a protected herd of 65 cows, seminars, hands-on instruction, Bhartiya Gau Raksha Dal's office, ox-power and life centered on the land and cows. Guests are welcome for scheduled tours and events. A cabin is available for temporary residence of volunteers, trainees and members.

Team Members






Like Bharitya Gau Raksha Dal on FB

Immoral Merger In Haryana


सत्ता में आते ही सभी राजनैतिक पार्टियों के संगठन के पदाधिकारियों, विधायकों, सांसदों और मंत्रियों के चारो ओर "दलाल" जुगाडू किस्म के चापलूस लोग हाथों में बड़े बड़े मोबाईल लिए ब्राण्डेड कपड़े पहने सोने से लदे हुए कीमती कारों के साथ एकाएक दिखाई देने लगते हैं। जिनका दूर -दूर तक राजनीति और पार्टी से कोई वास्ता ही नही होता है। और साधारण कार्यकर्ता जिसकी पैठ क्षेत्र के जनसामान्य में होने के बावजूद मेहनत,लगन व कर्मठता के कारण ही सत्ता प्राप्त करने की आस होती है। यकायक उसकी अनदेखी होने लगती है।जनसामान्य के कार्य के लिए भी उस जमीनी कार्यकर्ता को संगठन एवं सत्ताधीश नेता समय नहीं देते हैं सभी संगठन नेता भी अब उनको पहचानते ही नहीं हैं। ऐसे में वह साधारण कार्यकर्त्ता स्वयं को ठगा सा महसूस करता है। और कार्यकर्ता हतोउत्साहित हो जाता है संगठन के शीर्ष पदाधिकारी अब अचानक मठाधीश बन जाते हैं। इसी लिये सत्ता पर काबिज होने के बाद के चुनावों में पार्टियाँ पराजित होती हैं। और हाशिये पर आ जाती हैं फिर वह अपने जैसे पाखंडियों को अपने साथ मिलाती हैं। जैसा हरियाणा में हवा है। # क्या यह सही है

Videos